हाय रे कलियुग! जालसाजों ने बीमार अयांश को भी नहीं छोड़ा, नया यूपीआई नम्बर जारी कर पैसे मांगे, कम्प्लेन दर्ज

हाय रे कलियुग! जालसाजों ने बीमार अयांश को भी नहीं छोड़ा, नया यूपीआई नम्बर जारी कर पैसे मांगे, कम्प्लेन दर्ज

अयांश के पिता आलोक कुमार सिंह ने पटना के रूपसपुर थाने में इस संबंध में लिखित शिकायत दर्ज कराई है. आलोक सिंह के मुताबिक अयांश के लिए देश-दुनिया से उनके फोन पे, गूगल पे और पेटीएम नंबर पर लगातार मदद आ रही है. लेकिन इसी बीच किसी फ्रॉड व्यक्ति ने फेसबुक के जरिए आयांश के नाम पर फंडिंग शुरू कर दी। इस जालसाजी के खिलाफ थाने में कम्प्लेन दर्ज कर लिया गया है.

द दैनिक बिहार, सेंट्रल डेस्क : एक मासूम, जिसका नाम अयांश है वो एक गंभीर बीमारी से जूझ रहा है. इन दिनों उस मासूम की चर्चा हर जगह हो रही है। सिर्फ बिहार ही नहीं बल्कि देश भर के लोग आयांश की मदद कर रहे हैं। एक अति दुर्लभ बीमारी से पीड़ित अयांश की जान 16 करोड़ का एक इंजेक्शन बचा सकता है जिसके लिए क्राउड फंडिंग जारी है। सोशल मीडिया के माध्यम से जुड़े देश-विदेश से लोग अयांश के परिजनों को अलग-अलग माध्यम से पैसे भेज रहे है. लेकिन इस बीच मंगलवार को एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है। अयांश के नाम पर जालसाजों ने ठगी की है।

रूपसपुर थाने में हुआ है केस दर्ज

दरअसल इस मामले का खुलासा खुद अयांश के पिता आलोक कुमार सिंह ने किया है। आलोक सिंह ने मंगलवार को पटना के रूपसपुर थाने में इस संबंध में लिखित शिकायत दर्ज कराई है। पिता के मुताबिक अयांश के लिए देशभर से उनके फोन पे, गूगल पे और पेटीएम नंबर पर मदद आ रही है लेकिन इसी बीच कोई अनजान व्यक्ति है जिसने जालसाजी कर फेसबुक के जरिए आयांश के नाम पर फंडिंग शुरू कर दी। हैरत इस बात की है कि आयांश के लिए मदद मांगने वाला जो पोस्ट फेसबुक पर शेयर किया जा रहा है उसमें फोन पे, गूगल पे और पेटीएम का नंबर अलोक कुमार सिंह का है ही नहीं। किसी दूसरे व्यक्ति का नंबर डालकर उसमें पैसे मंगाए जा रहे हैं, और यह कितने दिन से चल रहा इसकी जानकारी किसी को नहीं है।

फेक अकाउंट शिवानी पांडेय के नाम से हैं

अलोक कुमार सिंह को जब इसकी जानकारी मिली तो उन्होंने तुरंत रूपसपुर थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराने पहुंच गए। फेसबुक पर जिस अनजान व्यक्ति की तरफ से यह जालसाजी की जा रही है उस फ्रॉड ने शिवानी पांडे के नाम से एक फेसबुक अकाउंट बनाया और उसी के जरिए अयांश के डिटेल साझा कर रहा हैं। इस मामले में पुलिस ने कहा है कि लिखित शिकायत दर्ज कर ली गई है और मामले की छानबीन चल रही है. जो भी इस जालसाजी में शामिल होंगे पुलिस उन तक पहुंच जाएगी। लोगो कह रहे है कि यह कलियुग का ही प्रभाव है कि एक तरफ आयांश की मदद के लिए लोगों ने मानवीय संवेदना दिखा रहे तो वहीं दूसरी तरफ कुछ ऐसे जालसाज भी है जिन्होंने इस मासूम के बहाने ठगी का अपना नेटवर्क खड़ा कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *