क्या सलाहकार के पद से इस्तीफा देकर कांग्रेस में शामिल होने जा रहे चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर?

क्या सलाहकार के पद से इस्तीफा देकर कांग्रेस में शामिल होने जा रहे चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर?

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के प्रमुख सलाहकार के पद से दिया इस्तीफा. प्रशांत किशोर को अमरिंदर सिंह से कैबिनेट मंत्री का मिला था दर्जा. पीके ने कैप्टन अमरिंदर सिंह को पत्र लिखकर इसकी सूचना दी.

द दैनिक बिहार डेस्क : चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के प्रमुख सलाहकार के पद से इस्तीफा दे दिया हैं. वही, इस्तीफे के एलान के बाद प्रशांत किशोर ने कहा कि वो पब्लिक लाइफ में अपनी सक्रिय भूमिका से ब्रेक लेना चाहते हैं. बता दें कि, प्रशांत किशोर ने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को पत्र भेजकर इसकी जानकारी दी. जिसमें उन्होंने लिखा है कि “जैसा कि आप जानते हैं, सार्वजनिक जीवन में सक्रिय भूमिका से अस्थायी अवकाश लेने के मेरे निर्णय के मद्देनजर, मैं आपके प्रधान सलाहकार के रूप में जिम्मेदारियों को संभालने में सक्षम नहीं हूं. चूंकि मुझे अभी अपने भविष्य के कार्य के बारे में निर्णय लेना है, इसलिए मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि कृपया मुझे इस जिम्मेदारी से मुक्त करने की कृपा करें. इस पद के लिए मुझ पर विचार करने के लिए मैं आपको धन्यवाद देता हूं.”

पीके के इस्तीफे के बाद अब कयास लगना शुरू हो गया हैं कि वो जल्द ही कांग्रेस पार्टी से अपनी सक्रीय राजनीति की शुरुआत करेंगे. और कांग्रेस के अधिकतर नेताओं का मानना है कि उनके आने से कांग्रेस को लाभ मिलेगा. पार्टी सूत्रों के अनुसार राहुल गांधी ने बीते दिनों 22 जुलाई को जो बैठक बुलाई थी और उसका मुख्य एजेंडा पार्टी में शामिल होने की स्थिति में प्रशांत किशोर को दी जाने वाली भूमिका और इससे पार्टी को होने वाले हानि-लाभ पर चर्चा करना था. हालांकि, अभी प्रशांत किशोर की ओर से इस बारे में कोई बयान नही आया हैं.

बहुत लंबे समय तक दूसरों के लिए काम नहीं करेगी आईपैक

मालूम हो कि, प्रशांत किशोर ये बात पहले ही बता चुके है कि इंडियन पालिटिकल एक्शन कमेटी की उनकी टीम राजनीतिक समीकरणों को साधने का काम तो कर रही है, लेकिन बहुत लंबे समय तक उनका ये करने इरादा नही है. वही, इससे पहले प्रशांत किशोर के कांग्रेस में शामिल होने संबंधी प्रस्ताव पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी नेताओं के साथ विचार विमर्श भी किया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *