अब बच्चों को भी दी जाएगी कोरोना वैक्सीन, DGCI ने दी COVAXIN इस्तेमाल करने की मंजूरी…

अब बच्चों को भी दी जाएगी कोरोना वैक्सीन, DGCI ने दी COVAXIN इस्तेमाल करने की मंजूरी…

दशहरा के अवसर पर और महासप्तमी के दिन केंद्र सरकार ने देशवासियों को दिया बड़ा तोहफा. अब 2 साल से लेकर 18 साल की उम्र तक के बच्चों को भी मिल सकेगा वैक्सीन. सरकार ने भारत बायोटेक की को-वैक्सीन को इस्तेमाल करने की दी मंजूरी. अब बच्चों के बीच फैलने वाली बीमारी में बहुत हद तक लगाया जा सकेगा विराम.

द दैनिक बिहार, डेस्क : केंद्र सरकार ने बच्चों को बायोटेक की को-वैक्सीन को इस्तेमाल करने की मंजूरी दें दी हैं. यह वैक्सीन दो साल से अधिक उम्र के बच्चों को भी लगाई जाएगी. वही इस वैक्सीन की दो खुराकों के बीच 28 दिनों का अंतर रखना होगा. बता दें कि, दवा नियामकों ने भारत बायोटेक को इस साल मई में बच्चों पर परीक्षण करने की अनुमति दी थी. और यह ट्रायल सितंबर में पूरा किया गया. बीते 6 अक्टूबर को ही कंपनी ने सत्यापन और आपातकालीन उपयोग की मंजूरी के लिए आंकड़े CDSCO को दिए थे.

प्री-फिल्ड सिरिंज होगा वैक्सीन

ये वैक्सीन प्री-फिल्ड सिरिंज यानी पहले से भरी होगी. और इसमें भी 0.5ml की ही खुराक होगी. 2 साल तक के बच्चों के मामले में अधिक खुराक से दिक्कत हो सकती है, इसलिए बच्चों के टीके के लिए एक PFS मैकेनिज्म पर ज्यादा ध्यांन दिया गया. हालांकि, पहले से भरे हुए 0.5ml टीके को एक बार प्रयोग करके फेंक देना होगा.

जायकोव-डी का क्लिनिकल ट्रायल हुआ पूरा

मालूम हो कि, भारत बायोटेक और ICMR ने मिलकर कोवैक्सीन को बनाया है. यह भारतीय कोरोना टीका है. और कोरोना वायरस के खिलाफ Covaxin क्लीनिकल ट्रायल्स में लगभग 78 प्रतिशत असरदार साबित हुई थी. वही, अभी देश में वयस्कों को तीन वैक्सीन लगाई जा रही हैं. कोवैक्सिन, कोवीशील्ड और स्पूतनिक वी. जिनमें कोवैक्सिन को भारत बायोटेक ने बनाया है. और कोवीशील्ड बनाने वाला सीरम इंस्टीट्यूट भी बच्चों की वैक्सीन कोवोवैक्स को बनाने की तैयारी कर रहा है. जबकि, जायडस कैडिला की वैक्सीन जायकोव-डी का क्लिनिकल ट्रायल पूरा हो चुका है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *