CM नीतीश के गृह जिले में बड़ी वारदात, युवक को अगवाकर मांगे 50 लाख…

CM नीतीश के गृह जिले में बड़ी वारदात, युवक को अगवाकर मांगे 50 लाख…

छात्र को जिंदा जलाया, नदी में बहाई लाश

Nalanda, The Dainik Bihar : सीएम नीतीश के गृह जिले नालंदा से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। बिहार थाना क्षेत्र के मुसादपुर-अस्पताल चौक निवासी बिजली कर्मी उर्मिला देवी के पुत्र नीतीश कुमार का अपहरण 16 अक्टूबर को कर लिया गया था। अपहरण के बाद बदमाशों ने फिरौती के रूप में 50 लाख रुपये की मांग की थी। पुलिस की छानबीन के अनुसार युवक की हत्या कर शव को जला दिया गया है। बचे अवशेष नदी में फेंक दिये गये। हालांकि, शव बरामद नहीं हुआ है।


शव जलाने के अवशेष सोहसराय थाना क्षेत्र के आशानगर मोहल्ला स्थित एक निजी स्कूल परिसर में मिले हैं। स्कूल का संचालक और मृतक रिश्ते में ममेरे-फुफेरे भाई लगते हैं। पुलिस उसी को हत्या का मुख्य आरोपित बता रही है। पुलिस का दावा है कि फिरौती मांगने व पुलिस को सूचना मिलने से पहले ही युवक की हत्या कर दी गयी थी। हत्या का कारण पारिवारिक विवाद बताया जा रहा है। मामले की छानबीन के लिए पुलिस ने डॉग स्क्वायड टीम को बुलाया था। पुलिस का दावा है कि हत्या से संबंधित कई साक्ष्य बरामद किये गये हैं। पुलिस ने मदर टेरेसा मीडिल स्कूल संचालक दीपक कुमार, गार्ड इन्द्रजीत के अलावा कुछ अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया है।

16 अक्टूबर को ही हुई थी हत्या–

सदर डीएसपी डॉ. शिब्ली नोमानी की माने तो आरोपितों ने 16 अक्टूबर को फोन कर नीतीश को बुलाया था। बुलाने के बाद गला दबाकर उसकी हत्या कर दी गयी। इसके बाद शव को जला दिया गया। जलने के बाद जो बच गया उसे पंचाने नदी में फेंक दिया। स्कूल परिसर में शव जलाये जाने के साक्ष्य मिले हैं। हत्या करने के बाद पुलिस को गुमराह करने के लिए फिरौती की मांग की गयी थी। फिरौती की मांग के बाद परिजनों ने पुलिस को सूचना दी थी। 
स्कूल के गार्ड ने खोला राज–
पुलिस ने छानबीन के दौरान मोबाइल लोकेशन व अन्य साक्ष्यों के आधार पर स्कूल के गार्ड इन्द्रजीत समेत कुछ अन्य लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था। इन्द्रजीत ने ही सारा भेद खोला। उसकी निशानदेही पर मंगलवार को पुलिस पूरी तैयारी के साथ स्कूल पहुंची। इसके बाद हत्या का मामला उजागर हुआ।

शव जलाने के लिए मिले हैं कई साक्ष्य–

स्कूल परिसर में नीतीश की साइकिल मिली है। साथ ही 10 लीटर का एक डिब्बा भी मिला है। पुलिस को अंदेशा है इसमें पेट्रोल लाया गया है। जहां शव जलाया गया है, वहां पर लगा एक पेड़ भी कुछ हद जला है। जला हुआ बोरा व लकड़ी के टुकड़े मिले हैं। पुलिस ने वह मोबाइल भी बरामद कर लिया है, जिससे परिजनों को फोन किया गया था। डीएसपी ने बताया कि इस मामले में कुछ अन्य लोग भी शामिल हैं। जल्द ही उन्हें भी पकड़ लिया जाएगा।


परिजन के नहीं रुक रहें आंसू–


मां उर्मिला देवी का रो-रोकर बुरा हाल है। पिता स्व. भुवनेश्वर प्रसाद के निधन के बाद मां ने अपने इकलौते बेटे नीतीश को काफी लाड़-प्यार से पाला है। नीतीश काफी होनहार था। मां को उम्मीद थी कि बुढ़ापे में उनका सहारा बनेगा। उनके आंसू नहीं रुक रहे हैं। हालांकि, उनके दिल के एक कोने में अभी भी उम्मीद है कि शायद उनका बेटा वापस आ जाए। परिवार के अन्य लोग उन्हें हिम्मत बंधा रहे हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *