लोजपा में चल रही लड़ाई को आयोग ने किया खत्म, चिराग को मिला हेलीकॉप्टर का सैम्पल तो चाचा पशुपति पारस को सिलाई मशीन…

लोजपा में चल रही लड़ाई को आयोग ने किया खत्म, चिराग को मिला हेलीकॉप्टर का सैम्पल तो चाचा पशुपति पारस को सिलाई मशीन…

चिराग पासवान और चाचा पशुपति नाथ पारस के बीच के लड़ाई को चुनाव आयोग ने किया खत्म. चुनाव आयोग ने लोजपा चिराग गुट को रामविलास के राजनीतिक दल के तौर पर दी मान्यता. पार्टी का चुनाव चिन्ह होगा हेलीकॉप्टर. वही, विधानसभा उपचुनाव के समय आयोग से मिली मंजूरी.

द दैनिक बिहार, डेस्क : लोक जनशक्ति पार्टी पिछले काफी दिनों से उठापटक बनी हुई हैं. वही, अब पार्टी को लेकर आयोग ने बड़ा फैसला किया हैं. बता दें कि, लोजपा संस्थापक और पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की सियासी विरासत को आयोग ने उनके बेटे को सौप दिया हैं. निर्वाचन आयोग ने चिराग और पशुपति खेमे की पार्टी को नया नाम दे दिया है. इस कड़ी में आयोग ने चिराग गुट लोजपा को ‘लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास)’ का नाम दिया है और इन्हें ‘हेलीकॉप्टर’ चुनाव चिन्ह मिला है.
जबकि, केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस की पार्टी को ‘राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी’ का नाम दिया है. ‘राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी’ को ‘सिलाई मशीन’ चुनाव चिह्न दिया गया है.

चिराग पासवान के बाद अब पशुपति पारस मनाएंगे बड़े भाई की बरसी

मालूम हो कि, पिछले महीने 12 सितंबर को चिराग पासवान ने दिवंगत नेता रामविलास पासवान की बरसी मनाई थी, जिसमें तमाम नेता शामिल हुए. वही, अब केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस भी 8 अक्टूबर को रामविलास की पहली पुण्यतिथि मानने जा रहे हैं. आगामी 8 अक्टूबर को राजधानी पटना स्थित लोजपा के कार्यालय में आयोजित पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की पहली पुण्यतिथि कार्यक्रम को लेकर लोजपा (पारस गुट) की ओर से जमकर तैयारियां की जा रही हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *