विधान परिषद उपचुनाव में जदयू ने बनाया दिवंगत विधान पार्षद तनवीर अख्तर की पत्नी रोजीना नाजिश को उम्मीदवार…

विधान परिषद उपचुनाव में जदयू ने बनाया दिवंगत विधान पार्षद तनवीर अख्तर की पत्नी रोजीना नाजिश को उम्मीदवार…

बिहार विधान परिषद की एक सीट के लिए हो रहे उपचुनाव को लेकर बड़ी खबर आई सामने. जदयू ने दिवंगत विधान पार्षद तनवीर अख्तर की पत्नी रोजीना नाजिश को बनाया विधान परिषद उप चुनाव में उम्मीदवार. पार्टी ने आधिकारिक तौर पर की घोषणा. जदयू प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा ने की संबंधित सूचना जारी.

द दैनिक बिहार, डेस्क : बिहार विधान परिषद की एक सीट के लिए हो रहे उपचुनाव को लेकर बड़ी खबर सामने आई हैं. जदयू ने दिवंगत विधान पार्षद तनवीर अख्तर की पत्नी रोजीना नाजिश को विधान परिषद उप चुनाव में उम्मीदवार बनाया हैं. पार्टी ने आधिकारिक तौर पर घोषणा भी कर दी हैं. बता दें कि, बीते दिनों ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने तनवीर अख्तर के घर जाकर उनकी पत्नी और परिवार से मुलाकात की थी. और इसके बाद जदयू के अंदर खाने से इस बात के संकेत मिले थे कि तनवीर अख्तर की पत्नी को एमएलसी की बनाया जा सकता है. क्योकि उनकी खाली सीट पर कार्यकाल आठ महीने बचा है.

मिली जानकारी के अनुसार, तनवीर अख्तर की पत्नी रोजीना अख्तर जल्द ही अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगी. वही, निर्वाचन आयोग के मुताबिक 22 सितंबर तक इस पद के लिए नामांकन पत्र दाखिल किया जा सकता है. जबकि, 23 सितंबर को स्‍क्रूटिनी और 27 सितंबर तक वक्‍त नाम वापसी के लिए निर्धारित है.

9 मई 2021 से रिक्त हैं सीट

राज्य निर्वाचन आयोग ने बिहार विधान परिषद की इस रिक्‍त सीट के लिए चुनाव की अधिसूचना जारी कर दी है. वही, अधिसूचना के अनुसार यह सीट 9 मई 2021 से खाली है और इसका कार्यकाल 21 जुलाई 2022 को पूरा हो जाएगा. इसे लेकर चुनाव आयोग के कहा है कि एक से अधिक प्रत्‍याशी होने के वजह से 4 अक्‍टूबर को सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक मतदान कराया जाएगा. और वोटों की गिनती भी उसी दिन शाम 5 बजे से होगी.

मुख्यमंत्री के बेहद करीबी थें तनवीर अख़्तर

मालूम हो कि, एमएलसी रहे दिवंगत नेता मो० तनवीर अख्तर का निधन पिछले साल कोरोना से हो गया था. वो मूल रूप से गया के रहने वाले थे. और वो जदयू अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और निधन के समय जदयू अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के बिहार के प्रभारी थे. उन्‍होंने राजनीति की शुरुआत कांग्रेस के साथ की थी. और कांग्रेस की बिहार इकाई के उपाध्‍यक्ष और बिहार प्रदेश युवा कांग्रेस प्रकोष्‍ठ के अध्‍यक्ष भी रह चुके थे.

वो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बेहद करीबी माने जाते थे. पूर्व विधान पार्षद के निधन पर मुख्यमंत्री ने कहा था कि “तनवीर अख्तर एक कुशल राजनेता थे. वे मिलनसार व्यक्ति थे और लोगों के बीच काफी लोकप्रिय थे. सामाजिक कार्यों में भी उनकी गहरी अभिरूचि थी. उन्होंने अपने व्यक्तित्व की बदौलत समाज के सभी वर्गों का आदर और सम्मान प्राप्त किया.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *